अपनी मनपसंद पुस्तक यहाँ खोजें

इतिहास क्या है? ITIHAS KYA HAI?

Q.इतिहास की परिभाषा क्या है?

Ans.History kise kahte hai;इतिहास शब्द तीन संस्कृत शब्दों से मिलकर बना है। इति-ह-आह अर्थात् भूत मे जो इस तरह था अर्थात् इतिहास अतीत मे घटित घटनाओं का विवरण है। … सामान्यतः इतिहासकार द्वारा अतीत की घटनाओं का गहन अध्ययन करके मानवीय मस्तिष्क को समझना ही इतिहास है।

Q.इतिहास के कितने भाग है?

Ans.इतिहास के भाग : प्राचीन काल इतिहास (Ancient History) मध्यकालीन इतिहास (Midevable History) आधुनिक इतिहास (Morden History)

Q.इतिहास क्या है परिभाषा?

Ans.इतिहास अपने व्यापक अर्थ में प्रत्येक वस्तु या घटना है जो कभी घटित हुई। यह स्वयं अतीत है चाहे वह किसी रूप में क्यों न हो। परन्तु अतीत को प्रत्यक्ष रूप से नही देखा जा सकता है।

Q.इतिहास कितने प्रकार के होते हैं?

Ans. इतिहास कितने प्रकार के होते है
  • इतिहास का क्षेत्र
  • राजनीतिक इतिहास
  • सामाजिक इतिहास
  • साँस्कृतिक इतिहास
  • धार्मिक इतिहास
  • आर्थिक इतिहास
  • संवैधानिक इतिहास
  • राजनयिक इतिहास

Q.इतिहास की जानकारी क्यों आवश्यक है?

Ans.किसी भी जाति या राष्ट्र को सजीव, उन्नतिशील तथा गतिशील बने रहने के लिए इतिहास का अध्ययन अत्यंत महत्वपूर्ण है। … इसके अध्ययन से हमें सभ्यता के क्रमिक विकास का ज्ञान होता है। वर्तमान समाज को समझने के लिए आवश्यक है कि इस विकास के उन विभिन्न सोपानों को जान सकें जिनमें से गुजरकर यह समाज वर्तमान स्थिति में आया है।

Q.भारत के इतिहास का जनक कौन है?

Ans.

हेरोडोटस ( इतिहास का जनक)
नामहेरोडोटस (Herodotus)
मृत्यु425 BCE
आवाससमोस
जातीयतायूनानी, कैरियन्स
व्यवसायइतिहासकार, राजनीतिज्ञ, लेखक

Q.इतिहास की शुरुआत कब हुई?

Ans.भारत का इतिहास कई हजार वर्ष पुराना माना जाता है। 65,000 साल पहले, पहले आधुनिक मनुष्य, या होमो सेपियन्स, अफ्रीका से भारतीय उपमहाद्वीप में पहुँचे थे, जहाँ वे पहले विकसित हुए थे। … ये धीरे-धीरे सिंधु घाटी सभ्यता में विकसित हुए, दक्षिण एशिया में पहली शहरी संस्कृति, जो अब पाकिस्तान और पश्चिमी भारत में 2500-1900 ई.

Q.मध्यकालीन इतिहास कब से कब तक है?

Ans.इसे दो अवधियों में विभाजित किया जा सकता है: ‘प्रारंभिक मध्ययुगीन काल’ 6वीं से लेकर 13वीं शताब्दी तक और ‘गत मध्यकालीन काल’ जो 13वीं से 16वीं शताब्दी तक चली, और 1526 में मुगल साम्राज्य की शुरुआत के साथ समाप्त हो गई।

Q.कितने भागों में प्रागैतिहासिक काल इतिहासकारों द्वारा विभाजित है?

Ans.– निम्न पुरापाषाण काल 5,00,000 ई. पू. से 50,000 ई. पू.

Q.भारतीय इतिहास को कितने खंडों में बांटा गया है?

Ans.क) जेम्स मिल ने भारतीय इतिहास को हिंदू, मुसलिम, ईसाई, तीन काल खंडों में बाँट दिया था।

Q.इतिहास मनुष्य को बुद्धिमान बनाता है किसका कथन है?

Ans. लॉर्ड एक्टन के अनुसार इतिहास मानवीय स्वतंत्रता की विकसित कहानी है। 115) हार्डर का विश्वात्मा का सिद्धांत विश्व इतिहास की आधारशिला है । 116) मार्क्स के अनुसार मानव का वास्तविक इतिहास तो साम्यवाद के आगमन से प्रारंभ होता है। 118) बेकन इतिहास मनुष्य को बुद्धिमान बनाता है।

Q.इतिहास हमें बचाव के संबंध में क्या सिखाता है?

Ans.इतिहास का जो महत्व है, वह शैक्षिक है। दूसरे लोगों और अतीत की विस्तृत व्याख्या के जरिये इतिहासकार मनुष्य के व्यापक सामाजिक अनुभवों को वर्तमान पीढ़ी के साथ साझा करता है। … अमूमन यह माना जाता है कि अतीत का अध्ययन हमें वर्तमान और भविष्य के बारे में मार्गदर्शन दे सकता है।

Q.इतिहास से क्या तात्पर्य है इतिहास के महत्व पर प्रकाश डालिए?

Ans.इतिहास मानव जीवन की समस्त क्रियाओं पर प्रकाश डालने वाला एक कथ्य या कहानी है जिसमें मानव जीवन की समस्त क्रियाओं तथा उत्थान पतन की झाँकी हमें देखने को मिलती है। इसमें समस्त कृत्यों को क्रमवार – ढंग से निष्पक्ष रुप से प्रस्तुत करने की क्षमता है। इतिहास नामक शिक्षा – शाखा की उत्पति सर्वप्रथम यूनान में मिलती है।

Q.इतिहास को विज्ञान क्यों कहा जाता है?

Ans.इतिहास में भौतिक विज्ञानों की भांति परीक्षण एवं प्रयोग नहीं कर सकते। परन्तु जो विद्वान् इतिहास को एक विज्ञान कहते हैं, वे उस रूप में ग्रहण नहीं करते जिस रूप में कि भौतिकशास्त्र एक विज्ञान है। … इस कारण हम उसे एक विज्ञान कह सकते हैं, क्योंकि प्रकृति के किसी विभाग के सम्बन्ध में ज्ञान कमबद्ध संग्रह को विज्ञान कहते हैं।

Q.प्राचीन भारतीय इतिहास के अध्ययन के कौन कौन से स्रोत हैं?

Ans.प्राचीन भारतीय इतिहास की जानकारी के साधन

  • धार्मिक साहित्य
  • ब्राह्मण ग्रंथ
  • श्रुति (वेद ब्राह्मण उपनिषद् वेदांग)
  • स्मृति (रामायण महाभारत पुराण स्मृतियाँ)
  • अब्राह्मण ग्रंथ
  • लौकिक साहित्य
  • ऐतिहासिक
  • विदेशी विवरण

Q.इतिहास से पहले के काल को क्या नाम दिया गया?

Ans.प्रागैतिहासिक काल (Prehistoric Era) : प्रागैतिहासिक काल वह काल है जिसकी जानकारी प्रातात्विक स्रोतों से प्राप्त होती है। इस समय के इतिहास की जानकारी लिखित रूप में प्राप्त नहीं हुई है। प्रागैतिहासिक काल को ‘प्रस्तर युग’ भी कहते हैं। प्रागैतिहासिक काल का अर्थ : प्रागैतिहासिक काल का अर्थ होता है ‘इतिहास से पूर्व का युग’।

Q.प्रत्येक इतिहास विचारों का इतिहास होता है किसका कथन है?

Ans.विचारों का इतिहास, इतिहास में अनुसंधान का एक क्षेत्र है जो समय के साथ मानव के विचारों में परिवर्तन, विचारों की अभिव्यक्ति एवं उनकी संरक्षण आदि का अध्ययन करता है। इस प्रकार यह बौद्धिक इतिहास (intellectual history) का एक उपभाग कहा जा सकता है।

Q.इतिहास के अध्ययन का उद्देश्य क्या है?

Ans.(1) कालं आगस्त मुलर के अनुसार इतिहास-शिक्षण के उद्देश्य

बालकों की मानसिक शक्तियों का विकास करना। इतिहास के अध्ययन द्वारा वर्तमान सामाजिक वातावरण को स्पष्ट करना। दूसरे शब्दों में हम कह सकते हैं कि इतिहास-शिक्षण द्वारा वर्तमान को स्पष्ट करना।

Q.इतिहास कितने शब्दों से मिलकर बना है?

Ans.इतिहास का शाब्दिक अर्थ – Meaning of history

इतिहास शब्द संस्कृत भाषा के तीन शब्दों इति(ऐसा ही), ह(निश्चित रूप सेे) तथा आस(था) से मिलकर बना है। जिसका शाब्दिक अर्थ होता है- ऐसा ही निश्चित रूप से था,अर्थात जो घटनााएं निश्चित रूप से घटी है, वही इतिहास है।

Q.इतिहास का क्षेत्र क्या है?

Ans.इतिहास का क्षेत्र (Scope of History) इतिहास का क्षेत्र बहुत ही व्यापक है। इसके अन्तर्गत वे समस्त बातें आती जो कि मानव ने अति प्राचीन काल से लेकर आज तक की जो कहा तथा सोचा। इस प्रकार इसके क्षेत्र के अन्तर्गत मानव-सभ्यता का सम्पूर्ण इतिहास आता है। … उनके अनुसार, इतिहास हमें पूर्व अनुभवों का एक अक्षय कोष प्रदान करता है।

Q.आधुनिक इतिहास के जनक कौन है?

Ans.वोलटेयिर को आधुनिक इतिहास लेखन का जनक कहा जाता है।

Q.भारतीय इतिहास की इनमें से कौन सी घटना सबसे पहले घटी थी?

Ans.1498: भारत के कालीकट पर वास्को डी गामा का आगमन। 1502: वॅस्को डी गामा की लिस्बन, पुर्तगाल से भारत के लिए दूसरी यात्रा की शुरुआत। 1565: तालिकोटा का युद्ध. मुस्लिमों द्वारा विजयनगर सेना का ख़ात्मा।

Q.इतिहास कितने प्रकार के होते है?

Ans.इतिहास कितने प्रकार के होते है

  • इतिहास का क्षेत्र
  • राजनीतिक इतिहास
  • सामाजिक इतिहास
  • साँस्कृतिक इतिहास
  • धार्मिक इतिहास
  • आर्थिक इतिहास
  • संवैधानिक इतिहास
  • राजनयिक इतिहास

Q.इतिहास के कितने भाग है?

Ans.इतिहास के भाग : प्राचीन काल इतिहास (Ancient History) मध्यकालीन इतिहास (Midevable History) आधुनिक इतिहास (Morden History)

Q.मध्यकालीन इतिहास को अंग्रेजी में क्या कहते हैं?

Ans.Medieval things relate to or date from the period in European history between about 500 AD and about 1500 AD. a medieval castle.

Q.आधुनिक इतिहास कब से कब तक है?

Ans.पूर्व-आधुनिक काल (early modern period) – १६वीं शताब्दी से आरम्भ होता है।

Q.इतिहास का स्वरूप चयनात्मक होता है किसका कथन है?

Ans.वाल्श की मान्यता है कि ‘इतिहास का स्वरूप चयनात्मक होता है। चूँकि इतिहासकार के लिए अतीत का सम्पूर्ण वर्णन करना सम्भव नहीं होता , अतः वह अपनी सामर्थ्य के अनुसार केवल उसके एक पक्ष का ही वर्णन प्रस्तुत करता है। … अतः स्पष्ट है कि इतिहासकार अपने मत के समर्थन में तथ्यों का चयन करता है

Q.इतिहास विज्ञान है ना कम ना अधिक किसका कथन है?

Ans.यह कार्य सर्वप्रथम कार्ल मार्क्स ने किया। परन्तु विल्हेल्म डिल्थे प्रथम व्यक्ति था जिसने इतिहास को वास्तव में सामाजिक विज्ञान का रूप देने की कोशिश की। डिल्थे का कहना था कि यदि मनुष्य के कार्य, व्यवहार तथा कृतियों का अध्ययन किया जाये तो इतिहास ही ऐसा माध्यम है जिससे मनुष्य को समझा जा सकता है।

Q.प्रत्येक इतिहास विचारों का इतिहास होता है किसका कथन है?

Ans.विचारों का इतिहास, इतिहास में अनुसंधान का एक क्षेत्र है जो समय के साथ मानव के विचारों में परिवर्तन, विचारों की अभिव्यक्ति एवं उनकी संरक्षण आदि का अध्ययन करता है। इस प्रकार यह बौद्धिक इतिहास (intellectual history) का एक उपभाग कहा जा सकता है।

Q.इतिहास के अध्ययन के लिए कौन कौन से स्रोत हमारी सहायता कर सकते हैं?

Ans.साहित्यिक स्रोत

  • वेद
  • ब्राह्मण
  • उपनिषद
  • वेदांग
  • रामायण, महाभारत
  • पुराण
  • स्मृतियाँ
  • अब्राह्मण ग्रन्थ

Q.इतिहास मनुष्य को बुद्धिमान बनाता है किसका कथन है?

Ans.लॉर्ड एक्टन के अनुसार इतिहास मानवीय स्वतंत्रता की विकसित कहानी है। 115) हार्डर का विश्वात्मा का सिद्धांत विश्व इतिहास की आधारशिला है । मार्क्स के अनुसार मानव का वास्तविक इतिहास तो साम्यवाद के आगमन से प्रारंभ होता है। 118) बेकन इतिहास मनुष्य को बुद्धिमान बनाता है।

Q.इतिहास से क्या अभिप्राय है उत्तर दीजिए?

Ans. इतिहास के अंतर्गत हम जिस विषय का अध्ययन करते हैं उसमें अब तक घटित घटनाओं या उससे संबंध रखनेवाली घटनाओं का कालक्रमानुसार वर्णन होता है। दूसरे शब्दों में मानव की विशिष्ट घटनाओं का नाम ही इतिहास है। या फिर प्राचीनता से नवीनता की ओर आने वाली, मानवजाति से संबंधित घटनाओं का वर्णन इतिहास है।