अपनी मनपसंद पुस्तक यहाँ खोजें

कामसूत्र | Kamasutra In PDF Format Read And Download

कामसूत्र : महर्षि वात्सयायन | Kamasutra : Maharshi Vatsayayan |

इस पुस्तक  नाम कामसूत्र : महर्षि वात्सयायन है यह किताब बहुत ही प्रशिद्ध किताब है इस पुस्तक को अगर डाउनलोड करना चाहते है पीडीऍफ़ में तो इसका साइज है 25.2 MB है |

Q . इस पुस्तक में कुल कितने पेज है ?

Ans . इस किताब में कुल 160 पेज है |

कामसूत्र महर्षि वात्स्यायन द्वारा रचित भारत का एक प्राचीन कामशास्त्र  ग्रन्थ है। यह विश्व की प्रथम यौन संहिता है जिसमें यौन प्रेम के मनोशारीरिक सिद्धान्तों तथा प्रयोग की विस्तृत व्याख्या एवं विवेचना की गई है। अर्थ के क्षेत्र में जो स्थान कौटिल्य के अर्थशास्त्र का है, काम के क्षेत्र में वही स्थान कामसूत्र का है।

महर्षि के कामसूत्र ने न केवल दाम्पत्य जीवन का शृंगार किया है वरन कला, शिल्पकला एवं साहित्य को भी सम्पदित किया है। राजस्थान की दुर्लभ यौन चित्रकारी तथा खजुराहो, कोणार्क आदि की जीवन्त शिल्पकला भी कामसूत्र से अनुप्राणित है।

कामसूत्र | Kamasutra

वात्स्यायन ने कामसूत्र में मुख्यतया धर्म, अर्थ और काम की व्याख्या की है। उन्होने धर्म-अर्थ-काम को नमस्कार करते हुए ग्रन्थारम्भ किया है। धर्म, अर्थ और काम को ‘त्रयी’ कहा जाता है। वात्स्यायन का कहना है कि धर्म परमार्थ का सम्पादन करता है, इसलिए धर्म का बोध कराने वाले शास्त्र का होना आवश्यक है। अर्थसिद्धि के लिए तरह-तरह के उपाय करने पड़ते हैं इसलिए उन उपायों को बताने वाले अर्थशास्त्र की आवश्यकता पड़ती है और सम्भोग के पराधीन होने के कारण स्त्री और पुरुष को उस पराधीनता से बचने के लिए कामशास्त्र के अध्ययन की आवश्यकता पड़ती है।

आप यहाँ  क्लिक कर के pdf  डाउनलोड कर सकते है डाउनलोड काम सूत्र पीडीऍफ़

कामसूत्र की वो 64 कलाएं, जिन्हें जानने वाला कभी मात नहीं खाएगा

जब पहली बार करीब 200 साल पहले सर रिचर्ड एफ बर्टन ने इसका अनुवाद किया तो ये इसे खरीदने की होड़ लग गई. इसकी एक-एक प्रति 100 से 150 पौंड तक में बिकी. वात्स्यायन ने अपने इस ग्रंथ में 64 कलाओं का जिक्र किया है. जिन्हें जानने वाला जीवन के किसी क्षेत्र में मात नहीं खा सकता.

किताब की खास बातें
– इस किताब को दुनिया की पहली यौन संहिता भी कहा जाता है, जिसमें यौन प्रेम के मनोशारीरिक सिद्धान्तों तथा प्रयोगों की विस्तार से व्याख्या की गई है. अर्थ के क्षेत्र में जो स्थान कौटिल्य के अर्थशास्त्र का है, काम के क्षेत्र में वही स्थान कामसूत्र का है.
– कहा जाता है कि अरब के विख्यात कामशास्त्र ‘सुगन्धित बाग’ (Perfumed Garden) इसी के अाधार पर लिखी गई थी. उस पर इस ग्रंथ की अमिट छाप है
– इस किताब में दांपत्य जीवन के संबंधों के साथ कला, शिल्पकला एवं साहित्य को भी प्रमुखता से दिया गया है.

 

what is kamasutra,कामसूत्र | Kamasutra,कामसूत्र : महर्षि वात्सयायन,कामसूत्र की वो 64 कलाएं,कामसूत्र ,कामसूत्र किताब की खास बातें,डाउनलोड कामसूत्र पीडीऍफ़ ,कामसूत्र हिंदी में ,कामसूत्र ऑनलाइन ,kaamsutra read online ,kaamsutra pdf in hindi