अपनी मनपसंद पुस्तक यहाँ खोजें

ईसाई धर्म Iisai Dharm

Q.ईसाई धर्म का भगवान कौन है?

Ans.  ईसाई एकेश्वरवादी हैं, लेकिन वे ईश्वर को त्रीएक के रूप में समझते हैं- परमपिता परमेश्वर, उनके पुत्र ईसा मसीह (यीशु मसीह) और पवित्र आत्मा.

Q.ईसाई धर्म के नियम क्या है?

Ans.ईसाई धर्म के अनुसार यह चार चीजे पूरी तरह से पाप मानी जाती है। मूर्तिपूजा – ईसाई धर्म को मानने वाले लोग मूर्तिपूजा में विश्वास नहीं रखते है। हत्या – किसी भी प्रकार की हत्या करना पाप माना जाता है। व्यभिचार – किसी के साथ अच्छे तरीके से आचरण न करके उसको बुरा – भला कहना,उसको सम्मान न देना भी पाप की श्रेणी में आता है।

Q.ईसाई धर्म की उत्पत्ति कब हुई?

Ans.ईसाई धर्म (मसीही या क्रिस्चन) एक इब्राहीमी धर्म है जो प्राचीन यहूदी परंपरा से निकला है। … ईसाई परंपरा के अनुसार इसकी शुरूआत प्रथम सदी ई. में फलिस्तीन में हुई, जिसके अनुयायी ‘ईसाई’ कहलाते हैं। यह धर्म यीशु मसीह की शिक्षाओं पर आधारित है।

Q.ईसाइयों के धर्मगुरु को क्या कहते हैं?

Ans.ईसाइयों के धर्मगुरु को पोप कहते हैं।

Q.ईसाई धर्म में शादी कैसे होती है?

Ans.ईसाई धर्म में शादी चर्च में होती हैं. शादी के दिन दुल्हन को ‘बेस्ट मैन’ फूलों का गुलदस्ता देता है. … दूल्हा-दुल्हन दोनों की ओर से दो-दो गवाह मौजूद होते हैं. फादर, जीसस और गवाहों को साक्षी मानकर दोनों पति-पत्नी के बंधन में बंधते हैं

Q.ईसाई धर्म भारत में कैसे आया?

Ans.मान्यता है कि भारत में ईसाई धर्म की शुरुआत सबसे पहल केरल के तटीय नगर क्रांगानोर से हुई. माना जाता है कि ईसा मसीह के 12 प्रमुख शिष्यों में से एक सेंट थॉमस 52 A.D में केरल के कोडुन्गल्लुर आए थे. भारत आने के बाद सेंट थॉमस ने 7 चर्च बनावाए. साथ ही कुछ दूसरे धर्म के लोगों को भी ईसाई धर्म स्वीकार करने के लिए राजी किया.

Q.पूरी दुनिया में ईसाई देश कितने हैं?

Ans.ईसाई धर्म, एक या किसी अन्य रूप में, निम्नलिखित 15 देशों का राज्य धर्म है: अर्जेंटीना (रोमन कैथोलिक चर्च), अर्मेनिया (अर्मेनियाई अपोस्टोलिक चर्च) तुवालु (तुवालु का चर्च), टोंगा (टोंगा का फ्री वेस्लेयन चर्च) इंग्लैंड (चर्च ऑफ इंग्लैंड), ग्रीस (पूर्वी रूढ़िवादी चर्च), जॉर्जिया (पूर्वी रूढ़िवादी चर्च), कोस्टा रिका (रोमन

Q.ईसाई धर्म कितने वर्ष पुराना है?

Ans.इसका प्रारंभ 2000 ईसा पूर्व से माना जाता है।

Q.ईसाई और यहूदी में क्या फर्क है?

Ans.दुनिया के सबसे पुराने धर्मों में से एक यहूदी धर्म से ही ईसाई और इस्लाम धर्म की उत्पत्ति हुई है. यहूदी मानते हैं कि ईश्वर एक है. इस धर्म में मूर्ति पूजा को पाप माना जाता है. इनकी धर्मिक भाषा ‘इब्रानी’ (हिब्रू) और इनके धर्मग्रंथ का नाम ‘तनख’ है, जो इब्रानी में लिखा गया है

Q.महिला ईसाई पादरी को क्या कहा जाता है?

Ans.सबसे प्रमुख मैरी, यीशु की मां है जो पूरे ईसाई धर्म में अत्यधिक सम्मानित है, खासकर रोमन कैथोलिक धर्म में जहां उसे “भगवान की मां” माना जाता है।

Q.ईसाई के लिए तलाक अधिनियम क्या है?

Ans.ईसाई धर्म में विवाह और तलाक संबंधी व्यवस्था, भारतीय ईसाई विवाह अधिनियम 1872 और भारतीय विवाह विच्छेद 1869 की धारा 10 में है। इसके अंतर्गत कोई पति इस आधार पर तलाक की मांग कर सकता है कि उसकी प|ी व्याभिचारिणी है, जबकि प|ी मांग कर सकती है कि पति ने धर्म बदलवाया है या दूसरी शादी कर ली है या पारिवारिक व्याभिचार में शामिल है।

Q.ईसाई धर्म अपनाने पर कितना पैसा मिलता है?

Ans.ईसाई धर्म अपनाने पर दिया 12000 प्रति माह देने का लालच, VHP ने किया हस्तक्षेप

Q.ईसाई कैसे बनते हैं?

Ans.धर्म बदलने को तैयार हिंदू लोगों को एक सभा में बुलाया जाता है। इस सभा में चर्च के पादरी ईसाई धर्म से जुड़ी बातें बताते हैं। इसके बाद सभी पर पवित्र जल का छिड़काव किया जाता है और कुछ धार्मिक विधियां कराई जाती हैं। इसके बाद सभी को ईसाई मान लिया जाता है।

Q.ईसाई धर्म के अनुसार ईश्वर के कितने रूप हैं?

Ans.ईश्वर तिर्यकू है, अर्थात् एक ही ईश्वर में तीन व्यक्ति हैं- पिता, पुत्र और पवित्र आत्मा। तीनों समान रूप से अनादि, अनंत और सर्वशक्तिमान् हैं क्योंकि वे तत्वत: एक हैं।

Q.यीशु को क्यों मारा गया?

Ans.इसलिये उन्होंने उस वक़्त के रोमन गवर्नर पिलातुस को इसकी शिकायत कर दी। रोमनों को हमेशा यहूदी क्रान्ति का डर रहता था। इसलिये कट्टरपन्थियों को प्रसन्न करने के लिए पिलातुस ने ईसा को क्रूस (सलीब) पर मौत की दर्दनाक सज़ा सुनाई। बाइबल के मुताबिक़, रोमी सैनिकों ने ईसा को कोड़ों से मारा।

Q.ईसाई धर्म रोमन साम्राज्य का राज धर्म कब बना?

Ans.रोमन साम्राज्य में अलग-अलग स्थानों पर लातिनी और यूनानी भाषाएँ बोली जाती थी और सन् १३० में इसने ईसाई धर्म को राजधर्म घोषित कर दिया था।

Q.ईसाई धर्म के पुजारी को क्या कहते हैं?

Ans.प्रोटेस्टेंटिज्म में <पादरी>, अंग्रेजी में पुजारी भी कहा जाता है। … ईसाई पुजारियों , बौद्ध पुजारी (दक्षिणी), शिंटो पुजारी आदि प्रतिनिधि उदाहरण हैं। यह एक भविष्यवक्ता या जादूगर से अवधारणा से अलग है, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है।

Q.नन कौन होती है?

Ans.कैथोलिक मत में पादरियों को विवाह करने की अनुमति नहीं है और उन्हें आजीवन ब्रह्मचर्य का पालन करना होता है। कुछ स्त्रियाँ भी अपना जीवन धर्म के नाम कर देती हैं और आजीवन कुँवारी रहती हैं। इन्हें “नन” (nun) कहा जाता है। … कैथोलिक संगठनों द्वारा चलाये गए पाठशालाओं में अक्सर यही ननें अध्यापिकाएँ हुआ करती हैं।

Q.ईसाई धर्म की संहिता प्रस्तुत करने वाला प्रभावशाली व्यक्ति कौन था?

Ans.यीशु मसीह परमेश्वर थे।

Q.ईसाई धर्म के नियम क्या है?

Ans.ईसाई धर्म के अनुसार यह चार चीजे पूरी तरह से पाप मानी जाती है। मूर्तिपूजा – ईसाई धर्म को मानने वाले लोग मूर्तिपूजा में विश्वास नहीं रखते है। हत्या – किसी भी प्रकार की हत्या करना पाप माना जाता है। व्यभिचार – किसी के साथ अच्छे तरीके से आचरण न करके उसको बुरा – भला कहना,उसको सम्मान न देना भी पाप की श्रेणी में आता है।

Q.ईसाई धर्म में शादी कैसे होती है?

Ans.ईसाई धर्म में शादी चर्च में होती हैं. शादी के दिन दुल्हन को ‘बेस्ट मैन’ फूलों का गुलदस्ता देता है. … दूल्हा-दुल्हन दोनों की ओर से दो-दो गवाह मौजूद होते हैं. फादर, जीसस और गवाहों को साक्षी मानकर दोनों पति-पत्नी के बंधन में बंधते हैं.

Q.ईसाई किसकी पूजा करते हैं?

Ans.ईसाई एकेश्वरवादी हैं, लेकिन वे ईश्वर को त्रीएक के रूप में समझते हैं- परमपिता परमेश्वर, उनके पुत्र ईसा मसीह (यीशु मसीह) और पवित्र आत्मा.

Q.चर्च में किसकी पूजा होती है?

Ans.इस प्रकार बाइबिल में ईसा के अनुयायियों के समुदाय को चर्च (कलीसिया), “ईश्वर का राज्य” तथा “ईश्वर की प्रजा” कहा गया है।

Q.बाइबल के अनुसार ईश्वर कौन है?

Ans.बाइबिल के उत्तरार्ध से पता चलता है कि ईसा ने ईश्वर के स्वरूप के विषय में एक नए रहस्य का उद्घाटन किया है। ईश्वर तिर्यकू है, अर्थात् एक ही ईश्वर में तीन व्यक्ति हैं- पिता, पुत्र और पवित्र आत्मा। तीनों समान रूप से अनादि, अनंत और सर्वशक्तिमान् हैं क्योंकि वे तत्वत: एक हैं।

Q.यीशु मसीह किसका अवतार है?

Ans.यह नवजात लामा का अवतार माना जाता है. ये वही तीन विद्वान थे जो जीसस के जन्म की रात को बेथलेहम पहुंचे थे. एक यह भी विश्वास है कि जीसस 13 की उम्र में तीन विद्वानों के साथ भारत आए थे और एक बौद्ध की तरह भारत में उनकी परवरिश हुई. भारतीय दार्शनिक ओशो ने भी ईसा मसीह के भारत से संबंधित होने की बात कही है.

Q.यीशु मसीह के कितने चेले थे?

Ans.यीशु के कुल बारह शिष्य थे

Q.ईशा का जन्म कब हुआ?

Ans.25 दिसंबर को ईसाई धर्म के संस्थापक ईसा मसीह का जन्म हुआ था। क्रिसमस शब्द का जन्म क्राईस्टेस माइसे अथवा ‘क्राइस्टस् मास’ शब्द से हुआ है। ऐसा अनुमान है कि पहला क्रिसमस रोम में 336 ईस्वी में मनाया गया था। यह प्रभु के पुत्र जीजस क्राइस्ट के जन्मदिन को याद करने के लिए पूरे विश्व में 25 दिसम्बर को मनाया जाता है।

Q.प्रथम ईसाई मिशन का प्रमुख कौन था?

Ans.विलियम कैरी को “आधुनिक मिशन का जनक” माना जाता है और 19वीं सदी के प्रोटेस्टेंट मिशनरी आंदोलन को उन्होंने काफी प्रभावित किया था

Q.ईसाई साध्वी को क्या कहते हैं?

Ans.ईसाई धर्म की साध्वी यानी नन को ब्रह्मचर्य का पालन करना होता है

Q.विश्व में कितने ईसाई देश हैं?

Ans.ईसाई धर्म, एक या किसी अन्य रूप में, निम्नलिखित 15 देशों का राज्य धर्म है: अर्जेंटीना (रोमन कैथोलिक चर्च), अर्मेनिया (अर्मेनियाई अपोस्टोलिक चर्च) तुवालु (तुवालु का चर्च), टोंगा (टोंगा का फ्री वेस्लेयन चर्च) इंग्लैंड (चर्च ऑफ इंग्लैंड), ग्रीस (पूर्वी रूढ़िवादी चर्च), जॉर्जिया (पूर्वी रूढ़िवादी चर्च), कोस्टा रिका (रोमन .

Q.ईसाई धर्म के पहले कौन सा धर्म था?

Ans.यजीदी- यजीदी धर्म प्राचीन विश्व की प्राचीनतम धार्मिक परंपराओं में से एक है। यजीदियों की गणना के अनुसार अरब में यह परंपरा 6,763 वर्ष पुरानी है अर्थात ईसा के 4,748 वर्ष पूर्व यहूदियों, ईसाइयों और मुसलमानों से पहले से यह परंपरा चली आ रही है। मान्यता के अनुसार यजीदी धर्म को हिन्दू धर्म की एक शाखा माना जाता है।

Q.बाइबल के अनुसार धर्म क्या है?

Ans.बाइबिल का पूर्वार्ध यहूदियों का भी धर्मग्रन्थ है, तथा उत्तरार्द्ध ईसा मसीह व उनकी शिक्षाओं पर आधारित है।

बाइबिल
धर्मयहूदी पन्थ, मसीही पन्थ
भाषाmarathi
श्लोक/आयतमसीही बाइबिल 23,145 (पुराना नियम में) • 7,957 (नया नियम में) यहूदी बाइबिल में 24 पुस्तकें हैं

Q.भारत में ईसाई कितने हैं?

Ans.प्यू रिसर्च सेंटर के अनुसार इस अवधि में भारत में हर प्रमुख धर्मों की आबादी बढ़ी. हिंदुओं की आबादी 30 करोड़ से बढ़कर 96.6 करोड़, मुसलमानों की आबादी 3.5 करोड़ से बढ़कर 17.2 करोड़ और ईसाइयों की आबादी 80 लाख से बढ़कर 2.8 करोड़ हो गई.

Q.ईसाई धर्म के प्रमुख त्यौहार कौन कौन से हैं?

Ans.“ईसाई त्यौहार” श्रेणी में पृष्ठ

  • आंल सेंटस डे
  • आंल सोल्स डे

Q.ईसाई के लिए तलाक अधिनियम क्या है?

Ans.ईसाई धर्म में विवाह और तलाक संबंधी व्यवस्था, भारतीय ईसाई विवाह अधिनियम 1872 और भारतीय विवाह विच्छेद 1869 की धारा 10 में है। इसके अंतर्गत कोई पति इस आधार पर तलाक की मांग कर सकता है कि उसकी प|ी व्याभिचारिणी है, जबकि प|ी मांग कर सकती है कि पति ने धर्म बदलवाया है या दूसरी शादी कर ली है या पारिवारिक व्याभिचार में शामिल है।

Q.ईसाई धर्म के अंतर्गत वाद विवाद क्यों हुआ इसके क्या परिणाम हुए?

Ans.उस समय ईसा की आयु अधिक नहीं थी, परन्तु कई वर्षों के एकान्तवास के पश्चात् उनमें कुछ विशिष्ट शक्तियों का संचार हुआ और उनके स्पर्श से अंधों को दृष्टि, गूंगों को वाणी तथा मृतकों को जीवन मिलने लगा। फलतः चारों ओर ईसा को प्रसिद्धि मिलने लगी। उन्होंने दीन दुखियों के प्रति प्रेम और सेवा का प्रचार किया।

Q.यीशु मसीह को क्रूस पर क्यों चढ़ाया गया?

Ans.यहूदियों के कट्टरपंथी धर्मगुरुओं को ईसा मसीह द्वार खुद को ईश्वर पुत्र बताना भारी पाप लगता था. सोमनों को हमेशा यहूदी क्रांति का डर सताता रहता था. इस कारण कट्टरपंथी धर्मगुरुओं ने इस बात की शिकायत रोमन गवर्नर पिलातुस को कर दी. इसके बाद कट्टरपंथी धर्मगुरुओं खुस करने के लिए पिलातुस ने ईसा को क्रूस पर लटकाने की सजा सुनाई.

Q.यीशु की मृत्यु कैसे हुई थी?

Ans.यीशु या यीशु मसीह (इब्रानी :येशुआ; अन्य नाम:ईसा मसीह, जीसस क्राइस्ट), जिन्हें नासरत का यीशु भी कहा जाता है, ईसाई पन्थ के प्रवर्तक हैं।

यीशु
मृत्युल. AD 30 / 33 (aged 33–36) येरुशलम, यहूदा, रोमन साम्राज्य
मृत्यु का कारणक्रूस पर चढ़ाये जाने से
गृह स्थाननासरत
माता-पितामरियम यूसुफ़

Q.क्या ईसा मसीह भारत आए थे?

Ans.आज से 2500 वर्ष पूर्व, सत्‍य की खोज में पाइथागोरस भारत आया था. ईसा मसीह भी भारत आए थे. ओशो के मुताबिक,ईसामसीह के 13 से 30 वर्ष की उम्र के बीच का बाइबिल में कोई उल्‍लेख नहीं है और यही उनकी लगभग पूरी जिंदगी थी, क्‍योंकि 33 वर्ष की उम्र में तो उन्‍हें सूली ही चढ़ा दिया गया था. … अंतत: जीसस की मृत्‍यु भी भारत में हुई!

Q.ईसाई कितने प्रकार के होते हैं?

Ans.ईसाइयों में मुख्ययतः तीन समुदाय हैं, कैथोलिक, प्रोटेस्टेंट और ऑर्थोडॉक्स तथा इनका धर्मग्रंथ बाइबिल है।

Q.यीशु मसीह को सूली पर कब चढ़ाया गया था?

Ans.गुड फ्राइडे को होली फ्राइडे, ब्लैक फ्राइडे या ग्रेट फ्राइडे भी कहते हैं। यह के लोगों द्वारा में पर चढ़ाने के कारण हुई मृत्यु के उपलक्ष्य में मनाया है।

Q.ईसा मसीह कौन से देश के थे?

Ans.ईसा मसीह

ईसा मसीह Jesus
निधनल॰ 30/33 AD (aged 33–36) जेरूसलम, यहूदा, रोमन साम्राज्य
मौत के वजहसूली चढ़ावल
मूल शहरनाजरेथ, गैलिली
माईबापमेरी जोसेफ़

Q.ईसा मसीह कब आएगा?

Ans.“उस दिन या उस समय के विषय में कोई नहीं जानता, न स्वर्ग के दूत और न पुत्र; परन्तु केवल पिता। देखो, जागते और प्रार्थना करते रहो; क्योंकि तुम नहीं जानते कि वह समय कब आएगा” (मरकुस 13:32-33)। “इसलिए जागते रहो, क्योंकि तुम न उस दिन को जानते हो, न उस समय को” (मत्ती 25:13)।

Q.बाइबल कब लिखा गया?

Ans.बाइबिल का रचनाकाल १२०० ई. पू. से १०० ई. तक माना जाता है।

Q.ईसाई धर्म में कितने संस्कार होते हैं?

Ans.धर्म मंडली (कलीसिया) सात संस्कारों को प्रारंभ से ही महत्व देती आ रही है एवं नकारा नहीं है।

Q.यीशु कैसे दिखता है?

Ans. यीशु की छोटी दाढ़ी है और बाल छोटे. वह छोटी ट्यूनिक पहने हुए हैं. ऊपर पहने के हुए कपड़े की बांहें छोटी है और उन्होंने कपड़े के ऊपर छोटी चादर ओढ़ रखी है.

Q.ईसा मसीह को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

Ans.ईसा मसीह शब्द का अर्थ इंग्लिश में

Christ [Noun]: The Anointed; An appellation given To Jesus, The Savior

Q.ईसा मसीह को क्या कहते हैं?

Ans.ईसाई धर्मानुसार ईसा मसीह परमेश्वर के पुत्र थे. ईसा मसीह को यीशु के नाम से भी पुकारा जाता है